Connect with us

राजनीति

बिहार: आचार संघिता के डर से बिना काम किये ही उदघाटन को पहुच मंत्री, जनता ने लौटाया

Published

on

आचार संहिता के डर से काम हुए बिना ही उद्घाटन के लिए बिहार के मंत्री विनोद नारायण झा पहुंचे थे, पर उन्हें जनता ने बैरंग लौटा दिया। वह गांव पहुंचे, तो उन्हें भीड़ ने घेर लिया। अपनी समस्याएं सामने रख खरी-खोटी भी सुनाई। कहा कि पहले काम कराया जाए, उसके बाद ही उद्घाटन हो। हालांकि, मंत्री को भी मौके की नजाकत और लोगों का मिजाज देखते हुए उन्हीं के सुर में सुर मिलाना पड़ा। उन्होंने कहा कि वह काम पूरा होने के बाद ही गांव आएंगे और उद्घाटन करेंगे।

फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो सका कि यह कौन से गांव का मामला है। पर टीवी पत्रकार उमाशंकर सिंह ने इस घटना से जुड़ा एक वीडियो शेयर किया। ट्वीट के साथ उन्होंने लिखा, “ख़ुदखुशी को लेकर बिहार के गाँववाले जाग गए हैं। आचार संहिता लागू होने से पहले उद्घाटन के लिए पहुँच रहे मंत्री से सवाल पूछा जा रहा है। न्याय की माँग की जा रही है। मंत्री जी को भी ख़ुदखुशी से ऊपर उठ कर सोचना पड़ रहा है। न्याय होने के बाद ही उद्घाटन का भरोसा देना पड़ा है। पूरा देखिए।”

क्लिप में बिहार के पीएचईडी (Public Health Engineering Department)  मंत्री गांव में योजना का उद्घाटन करने पहुंचे थे, पर वह ऐसा न कर सके। वह चुनावी आचार संहिता लागू होने से पहले उद्घाटन करना चाहते थे। हालांकि, ग्रामीणों ने उन्हें घेरा और अपनी समस्याएं बताईं। कहा कि नल जल योजना का काम पूरा नहीं हुआ। वॉर्ड संख्या-2 में 50 फीसदी काम भी नहीं हुआ है।

सभी लोग मिलकर बोले कि पहले काम कराएं, फिर उद्घाटन हो। इस पर मंत्री को भी सुननी पड़ी। इतना ही नहीं, उन्हें लोगों को काम पूरा होने के बाद ही उद्घाटन का भरोसा देना पड़ा। मंत्री झा बोले, “आचार संहिता के कारण हड़बड़ी हुई है। जब हर घर में नल लग जाएगा, तब मैं आऊंगा और उद्घाटन करूंगा।”

राजनीति

बिहार चुनाव में आयोग की खास तैयारी, कोरोना संक्रमित मरीज भी डाल सकेंगे वोट

Published

on

(more…)

Continue Reading

राजनीति

बिहार चुनाव 2020 ही हुई घोषणा, इतने चरण में संपन्न होगा मतदान?

Published

on

Bihar Election Update: बिहार में विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान हो गया है. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस कांफ्रेंस करते बताया कि कोविड काल में तीन चरणों में चुनाव कराए जाएंगे. पहला चरण 28 अक्टूबर को होगा, दूसरे चरण का तीन नवंबर और तीसरे चरण का चुनाव सात नवंबर को कराया जाएगा. चुनाव आयोग के अनुसार विधान सभा चुनावों के नतीजों का ऐलान 10 नवंबर को किया जाएगा. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जहां पहले चरण में जहां 16 जिलों की 71 सीटों पर मतदान होगा तो वहीं दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 सीटों पर मतदान किया जाएगा. इसके अलावा तीसरे और अंतिम चरण में 15 जिलों की 78 सीटों पर मतदाता अपने अधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे.

महत्वपूर्ण तारीख:

पहले चरण: 28 अक्टूबर 2020- 16 जिलों की 71 सीटों पर मतदान
दूसरा चरण: तीन नवंबर  2020- 17 जिलों की 94 सीटों पर मतदान
तीसरा चरण: सात नवंबर 2020- 15 जिलों की 78 सीटों पर मतदान
चुनाव के नतीजें- 10 नवंबर 2020

बिहार के कई दलों ने चिंता जताई थी कि कोरोना काल में चुनाव की तारीखों को आगे बढ़ाया जाए. मुख्य आय़ुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि कोरोना काल में लोगों के स्वास्थ्य और सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाएगा. उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग इसके लिए पूरी तरह से तैयार है. चुनाव कार्यक्रम बनाते वक्त का इस बात का विशेष ध्यान रखा जाएगा.

Continue Reading

राजनीति

बिहार चुनाव:- पप्पू यादव ने जारी किया चुनावी घोषणा पत्र, कहा वादे पूरे नही किये तो मेरी सरकार इस्तीफा देगी

Published

on

जन अधिकार पार्टी (जाप) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने कहा कि बड़े व छोटे भाई को 30 साल दिए, मुझे 3 साल दीजिए, बिहार में बदलाव दिखाई देगा। राजद का नाम लिए बिना कहा कि महागठंधन के एक प्रमुख घटक मुसलमानों को भाजपा का भय और एनडीए अपर कास्ट के लोगों को लालू यादव का भय दिखाकर वोट लेते रहा है। दोनों गठबंधन के लोग राज्य को

अगर मेरी सरकार बनी तो यह मंडल-कमंडल,अगड़ा-पिछड़ा, दलित-महादलित व हिंदु-मुसलमान नहीं,बल्कि मानवतावाद की सिद्धांत पर काम करेगी। जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनावी घोषणा पत्र की बजाय प्रतिज्ञा पत्र जारी करते हुए कहा कि किए वादों के पूरा करने के लिए शपथ लेता हूं, वादा पूरा नहीं हुआ तो मेरी सरकार इस्तीफा दे देगी। सरकार में सभी समुदायों को समान हक और सम्मान देने के लिए सभी वर्गों से एक-एक डिप्टी सीएम बनाने की भी बात कही।

सुशांत के नाम पर बनाएंगे फिल्म सिटी, व्यवसायियों के लिए विशेष पैकेज

पप्पू यादव ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर फिल्म सिटी का निर्माण किया जाएगा। आज यदि बिहार के प्रतिभावान युवा दूसरे राज्यों में उपेक्षा के शिकार हो रहे हैं, उसका कारण बिहार में खेल और मनोरंजन के लिए आधारभूत संरचना का आभाव है। हमारी सरकार हर जिले में खेल स्टेडियम बनाएगी और देशी खेलों जैसे- कुश्ती, खो-खो को बढ़ावा देगी। बिहार के जो खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अच्छा करेंगे, उन्हें सरकारी नौकरी देंगे। कहा- छोटे और मझौले व्यवसायियों के सहयोग के लिए विशेष पैकेज के साथ स्पेशल टास्क फोर्स के निर्माण और राज्य में बड़े उद्योगों के लिए व्यापारियों को टैक्स में छूट और भूमि उपलब्ध कराई जाएगी।

छात्रों को बाइक और छात्राओं को स्कूटी देने की घोषणा

उन्होंने इंटर की परीक्षा प्रथम श्रेणी से पास करने वाले छात्रों को मोटरसाइकिल और छात्राओं को स्कूटी देने की घोषणा की। साथ ही स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड लोन की राशि को 4 लाख से बढ़ाकर 10 लाख करने की घोषणा की। कहा- प्राथमिक से विश्वविद्यालय स्तर तक की शिक्षा सभी के लिए समान और नि:शुल्क होगी। प्राथमिक शिक्षा में मैथिली-मगही-भोजपुरी को प्राथमिकता देंगे। तीन साल के अंदर हर अनुमंडल में 300 बेड के अस्पताल, ढाई साल के अंदर ब्लॉक और जिला मुख्यालयों के अस्पतालों को सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल बनाएंगे।

Continue Reading

Trending