Connect with us

राजनीति

प्रधानमन्त्री मोदी आम इंसान नहीं उनके अन्दर जरूर कोई दैवीय शक्ति है: शिवराज सिंह चौहान

Published

on

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जोकि अक्सर अपने बयान में प्रधानमन्त्री मोदी की तारीफ़ करते नज़र आ जाते है पर इस बार उन्होंने तारीफ को एक कदम आगे बाधा दिया है और प्रधान मंत्री को “भगवान् का अवतार” बताया है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह मध्यप्रदेश में अपने सरकार के 100 दिन पुरे होने के उपलक्ष्य में भाजपा कार्यालय में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ऐसा कहा.

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी पर घटिया राजनीती का आरोप लगते हुए कहा की” वो मोदी जी को चुनौती देंगे?” मोदी जी भारत को भगवान् का वरदान हैं.

आगे उन्होंने गीता का हवाला देते हुए कहा की अब भगवान् स्वयं अवतार नहीं लेते लेकिन नरेन्द्र मोदी जैसे नेते को देख कर लगता है की कोई साधारण व्यक्ति इतना काम नहीं कर सकता.

हाल ही में कांग्रेस से भाजपा में गए और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी उस कार्यक्रम में बोलते हुए प्रधानमंत्री की तारीफ कर रहे थे. उन्होंने अपने संबोधन में कहा की प्रधानमंत्री का सही समय पर देश में लॉकडाउन घोषित करने से लाखो लोगों की जान बच सकी, उन्होंने आगे कहा की मोदी जी के नेतृत्व में हम चीन को मुहतोड़ जवाब दे पाएंगे.

राजनीति

कांग्रेस ने दिखाया सचिन पायलट समेत तीन नेताओं को बाहर का रास्ता

Published

on

राजस्थान: राजस्थान में तेजी से बदल रहे राजनीतिक घटनाक्रम के बीच कांग्रेस की बैठक में सचिन पायलट को लेकर बड़ा फैसला लिया गया. बैठक में सचिन पायलट, विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को मंत्रिपद से हटाने का प्रस्ताव पारित किया गया.

बैठक के बाद कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा भाजपा ने एक षडयंत्र के तहत राजस्थान की जनता के सम्मान को चुनौती दी है. साजिश के तहत संपूर्ण बहुमत से जनता की ओर से चुनी गई कांग्रेस की सरकार को अस्थिर कर गिराने की कोशिश की है.

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने धन बल और सत्ता बल के दुरुपयोग से ED और Income Tax के दुरुपयोग से कांग्रेस और स्वंतंत्र विधायकों को खरीदनो की कोशिश की है.

उन्होंने कहा कि राजस्थान के विधायकों को खऱीदने की साजिश की जा रही थी. हमें इस बात का खेद जरूर है कि सचिन पायलट और कांग्रेस के कुछ और विधायक और मंत्री भाजपा के जाल के अंदर उलझ कर कांग्रेस की सरकार को गिराने में शामिल हो गए.

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि हमने कहा कि खुले दिल से कहा कि आप वापस आईए. जो परिवार में बैठ कर सब सुलझाएंगे. जो ताकत कांग्रेस नेतृत्व ने सचिन पायलट को इतनी कम उम्र में इतनी ताकत दी उतनी ताकत किसी नेता को कभी नहीं मिली.

बता दें कि कांग्रेस की तरफ से सचिन पायलट को आज की बैठक में आमंत्रित किया गया था लेकिन पायलट ने इस मीटिंग से किनारा करके साफ कर दिया कि वह इस बार आर-पार की लड़ाई के मूड में हैं.

राजस्थान कांग्रेस में चल रहे संकट को देखते हुए सोमवार को रणदीप सुरजेवाला जयपुर पहुंचे हुए थे, उन्होंने यहां पर कहा कि पायलट आकर बातचीत करके मामला सुलझाए. पार्टी को उम्मीद थी की वो दूसरी मीटिंग में आएंगे, लेकिन पायलट ने इस मीटिंग से भी दूरी बना ली है. ऐसी रिपोर्ट्स हैं कि पायलट बीजेपी नेताओं के संपर्क में हैं. हालांकि, सोमवार को सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि पायलट ने कहा है कि वो बीजेपी में शामिल नहीं होंगे.

सोमवार की रात पायलट के खेमे की ओर से एक वीडियो रिलीज़ किया गया था, जिसमें 15-16 विधायक एक जगह पर बैठे दिखाई दे रहे थे. इसके पहले दिन में अशोक गहलोत के आवास में बुलाई गई विधायक दल की बैठक में तकरीबन 100 विधायक पहुंचे थे. गहलोत ने कहा है कि उनके पास लगभग 106 विधायकों का समर्थन है. लेकिन पायलट के करीबी सूत्रों का कहना है कि गहलोत के पास इतने नंबर नहीं हैं, जितने का वो दावा कर रहे हैं.

Continue Reading

राजनीति

परिवार छोड़कर जाने से उनका भी नुकसान: सुरजेवाला

Published

on

राजस्थान: कोरोना संकट के बीच राजस्थान में अचानक ही सियासी घमासान शुरू हो चुका है, मध्यप्रदेश के बाद अब राजस्थान में भी कांग्रेस की सरकार मुश्किल में पड़ती नज़र आ रही है।

कांग्रेस लगातार आरोप लगा रही है कि भाजपा सरकार को अस्थिर करने को कोशिश कर रही है, इसी बीच कांग्रेस आला कमान ने विधायक दल की बैठक बुलाई है और इसी बैठक में कुछ फैसला हो सकता है।

इसी कश्मकश के बीच अभी रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के बागी विधायक सहित सचिन पायलट से अपील किया कि कांग्रेस के दरवाजे अभी भी खुले हुए हैं आप कभी भी आ सकते हैं।

उधर दूसरी तरफ सचिन पायलट ने बताया कि उनके साथ 25 विधायक हैं और जब तक उनकी बात नही मानी जाती वो बैठक में नही आ रहे हैं।

बता दें कि सचिन पायलट के ऐसी हरकत के बाद भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दावा कर रहे हैं की उनके पास 102 की संख्या है और सरकार को कोई खतरा नही है।

ये देखने की बात होगी कि ऊंट किस करवट लेगी लेकिन इस बीच एक बात तो साफ है कि कांग्रेस एक बार फिर बड़ी मिश्किल में फसने जा रही है।

Continue Reading

राजनीति

केजरीवाल का कथित पूर्वांचल विरोधी बयान के खिलाफ पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष का कड़ा विरोध

Published

on

आप सभी को ज्ञातव्य होगा कि दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में निवास करने वाले पूर्वांचल वासियों के खिलाफ लगातार अनर्गल बयान एवं उनकी कार्य निष्ठा पर सवाल उठाए थे, nrc दिल्ली में लागू, होने पर दिल्ली से पूर्वांचल को बाहर भगाने का एवं भ्रम वश विनाशकारी एवं विभाजनकारी सोच को उजागर कर रहा है।

इसी के निमित्त आज दिल्ली विश्वविद्यालय में शक्ति सिंह  ( पूर्व अध्यक्ष छात्र संघ ) के नेतृत्व में विश्वविद्यालय में पढ रहे अप्रवासी विद्यार्थियों ने आज केजरीवाल के खिलाफ नारेबाजी कर पुतला फूंका। सभी ने एक स्वर में केजरीवाल के इस कृत्य की भर्त्सना की, शक्ति सिंह ने अपने भाषण में पूर्वांचल की धरती को नमन करते हुए दिल्ली सीएम की पूर्वांचलियों के प्रति घृणित सोच को दर्शाता है उनके इस तरह के बयान और साथ ही साथ दिल्ली का युवा अपनी वोट की ताकत से इस फर्जीवाल के खिलाफ चोट पहुंचाएगा, इस विरोध प्रदर्शन में विभिन्न कॉलेज से विद्यार्थियों का आना हुआ !!!

Continue Reading

Trending